Adhai din ka jhonpra- history & guidance

Adhai din ka jhonpra in Ajmer  Rajasthan -history & guidance | अढ़ाई दिन का झोंपड़ा बारे में दिशा -निर्देश 

Adhai din ka jhonpra- history & guidance

adhai din ka jhonpra in ajmer ki history- इतिहास 

 places to visit in  ajmer अढ़ाई दिन का झोपड़ा राजस्थान के अजमेर में स्थित मस्जिद है  यह स्मारक सबसे  पहले संस्कृत  महाविधालय के रूप में था जिसमे माँ सरस्वतीं का मन्दिर भी बना हुआ था इसका निर्माण 1192 में  क़ुतुब-उद -दीन -ऐबक को मुहम्मद गोरी के द्वारा दिए गए आदेश के अनुशार शुरू करवाया गया एव 1199 में निर्माण पूरा हुआ। मुहम्मद गोरी के आदेश में कहा गया की इस स्मारक को नस्ट करके इस जगह मस्जिद  बनाया जाये एव इसका निर्माण 2-1 /2 दिन में किया जाऐ (यानि मात्र  60 घंटो के भीतर )जिस कारण से इस मस्जिद का नाम अढाई दिन का झोपडा हो गया। places to visit in ajmer adhai din ka jhonpra  यह भारत के सबसे पुराने मस्जिद में से एक है और अजमेर में सबसे पुराना स्मारक है इस मस्जिद का मुख्य आर्च 60 फिट ऊंचा है इसकी मीनारे 11.5 फिट मोटी दीवार के शीर्ष पर स्थित है


adhai din ka jhonpra guidance-दिशा -निर्देश एवं जानकारी 

Adhai din ka jhonpra- history & guidance

 Adhai din ka jhonpra  भारत की सबसे पुरानी मस्जिदो में से एक है इस मस्जिद में कुल खम्भो की संख्या 344 थी और वास्तविक इमारत में 124 स्तंभ थे इस मेहराब का निर्माण पीले चुने पत्थर के उपयोग से किया गया था यहां 7बड़े  मेहराब है जिसमे से सबसे बड़े कि उचाई 60 फिट है मेहराब में पवित्र कुरान के छंद भी हे इसके दो प्रवेश दुवार है एक दक्षिण में और एक पूर्व में। प्रार्थनास्थल(अरुजीमस्जिद )  पश्चिम में स्थित है जबकि ऊपर की और एक पहाड़ी चटान है पश्चिम की और स्थित अरुजी मस्जिद की  इमारत में 10 गुबंद और 124 स्तंभ है इसका मुख्य कमरा 248 फुट चौड़ा है और 40 फिट लंबा है जिसको सहारा देने के लिए 70 खम्बे बनेहै  इसके  खम्बो में बेहद खुबसुरत  नक्काशी की गई है जिसमे हिन्दू मुस्लिम संस्कृति  के कारीगरी देखने को मिलती  है

Adhai din ka jhonpra- history & guidance

इन खूबसूरत मेहराबों में आयताकार पैनल हैं जो सूर्य के प्रकाश को पारित करते  हैं जो कि अरब मस्जिदों की संरचनाओं से भी प्रेरित है। इस मस्जिद  में गजनी और तुर्किस्तान से इस्लामी वास्तुकला के शिलालेख भी हैं। अधिकांश मस्जिद की संरचना अरबी पुष्प और पर्ण पैटर्न से प्रेरित है। इसमें ज्यामितीय समरूपता भी शामिल है जो फ़ारसी टिलवर्क से निकलती है।
places to visit in ajmer -adhai din ka jhonpra के शीर्ष तक पहुँचने के लिए कुछ सीढ़ियाँ चढ़ने के बाद, कोई भी वास्तविक रूप से सात मेहराबों को आसानी से देख सकता है। अढ़ाई दिन का झोंपड़ा के मुख्य आकर्षणों में से एक इसका मुख्य केंद्र है। मिहराब जो की सफेद संगमरमर से बनाया गया है। बड़ा केंद्रीय मेहराब दो छोटे सुगंधित मीनारों द्वारा पूरक है। मिहराब को सुंदर सफेद संगमरमर द्वारा बनाया गया है और कई लोगों ने इसे इस्लामी संरचना के इतिहास में एक प्रतिभाशाली कृति कहा है।

Adhai din ka jhonpra- history & guidance

इल्तुतमिश, जो कुतुब-उद-दीन-ऐबक का उत्तराधिकारी था, ने मस्जिद को खूबसूरती से पूरा किया जिसके कारण यह Adhai din ka jhonpra अजमेर का best tourist places बना था लेकिन आज की तारीख में यह काफी बुरी स्थिति से जूझ रहा है। इसमें भारत में पहली बार उत्कीर्ण मेहराबदार मेहराबों से छीनी गई एक स्क्रीन वॉल शामिल थी। स्क्रीन के केंद्रीय मेहराब पर शिलालेख और साथ ही उत्तरी मीनार के दो शिलालेखों पर उसका नाम है। दूसरे आर्च पर, यह निर्माण पर्यवेक्षक के रूप में अहमद इब्न मुहम्मद अल-अरिद का नाम देता है


adhai din ka jhonpra ki timing & entry fee

समय: यह स्थान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक खुला रहता है और शहर की सीमा के भीतर है। 

यात्रा करने के लिए सर्वोत्तम समय है यात्रा के लिए अक्टूबर और मार्च सबसे अच्छे महीने हैं। 

कैसे पहुंचे-:
हवाई मार्ग से: जयपुर हवाई अड्डा अजमेर शहर के अढाई दिन का झोंपड़ा से 135 किलोमीटर दूर है

 रेल से:  अजमेर रेलवे स्टेशन अढाई दिन का झोंपड़ा से सिर्फ 3 किमी दूर है

बस या सड़क से:  टैक्सी या ऑटो किराए पर लेकर या खुद के वाहन से आसानी से पहुंच सकते हैं।

वर्तमान समय में, यह स्थान सभी धर्मों के लोगों द्वारा दौरा किया जाता है और यह हिंदू, मुस्लिम, और जैन स्थापत्य शैली के मिश्रण को प्राप्त कर सकता है। अपने अनुभव हमसे शेयर करे 
अगर हमसे कोई तुरुटी हुए है तो समाधान के लिए अवस्य बताये 

टिप्पणियां

Popular Posts

hawa mahal jaipur ,history,guidance in hindi,timing,entry fee

jal mahal jaipur places to visit,history,timing,entry fee,hotel,

city palace jaipur tourist place in rajasthan

Taragarh fort Ajmer history,guidance,height,distance get the detail

Amer fort jaipur

jantar mantar jaipur tourist place in rajasthan