hawa mahal jaipur ,history,guidance in hindi,timing,entry fee

Hawa mahal jaipur-tourist place near jaipur


|hisroty & guidance,things to do-हवा महल में देखने के स्थान     


 

hawa-mahal-jaipur-tourist-place-near-me -history&guidance-in-hindi-things-to-do-visiting-timing-entry-fee (5)













hawa mahal ki history-इतिहास 

hawa mahal jaipur -tourist place near jaipur राजस्थान के जयपुर शहर के मध्य में स्थित खूबसूरत हवा महल पांच मंजिला पर्यटक आकर्षणो में से एक है | हवा महल का निर्माण 1799 में महाराजा सवाई प्रताप ,महाराजा सवाई जय सिंह के पोते कछवाह राजपूत वंश के शासक ने करवाया था | गुलाबी शहर में स्थित हवा महल राजपूतो की शाही विरासत वास्तुकला संस्कृति के अद्भुत मिश्रण का प्रतीक है सवाई प्रताप सिंह भगवन श्रीकृष्णा के बड़े भक्त थे उनकी भक्ति महल के निर्माण से स्पस्ट होती है  

hawa mahal guidance-दिशा -निर्देश 

hawa-mahal-jaipur-tourist-place-near-me -history&guidance-in-hindi-things-to-do-visiting-timing-entry-fee

हवा महल में कई झरोखे और खिड़किया होने के कारण हवा महल को पैलेस ऑफ़ विंडस  भी कहा  जाता है भगवान श्रीकृष्ण के मुखुट जैसी इस पांच मंजिला इमारत में 953  झरोखे है हवा महल की खास बात यह हे की दुनिया में बिना किसी नीव के बनी सबसे ऊंची इमारत हे हवा महल का निर्माण सवाई प्रताप सिंग ने सन 1799 में करवाया था पांचो मजिलो में अलग -अलग मन्दिर  बने हुए हे उत्सवो के लिए पहली मंजिल पर शरद मंदिर बना हुआ  है दूसरी मंजिल पर रतन मंदिर बना हुआ हे  जिसे ग्लासवर्क से सजाया जाता हेअन्य तीन मजिलो पर विचित्र मंदिर  प्रकास मंदिर और हवा मंदिर  बने हुआ है इन्ही के कारण ये best tourist place है  
hawa-mahal-jaipur-tourist-place-near-me -history&guidance-in-hindi-things-to-do-visiting-timing-entry-fee

इस महल को हवा महल इसकी पांचवी मंजिल के कारण कहा जाने लगा पांचवी मंजिल के झरोखो से आने वाली शुद्व हवा पुरे महल को ठंडा करती है  इसी  कारण महल को हवा महल कहा जाने लगा | tourist place near jaipur  हवा महल के निर्माण का मुख्य उद्देश्य शाही जयपुर की शाही राजपूत महिलाओ को झरोखो में से सड़क पर हो रहे उत्सवो  कार्येक्रमों को देखने की अनुमति देना था
 उक्त महिलाए पर्दा  प्रथा का पालन करती थीऔर दैनिक कार्येकर्मो  की एक जलक पाने के लिए इन झरोको का इस्तेमाल करती झरोको  की बनावट अद्भुत होने के कारण महल के बाहर से इन झरोखों में देखने पर कुछ भी स्पस्ट दिखाए नहीं देता लेकिन महल के अंदर इन  झरोखों  से बाहर सब कुछ स्पस्ट देखा जा सकता है जिसके कारण यह tourist place in jaipur में से best tourist place है |

build hawa mahal -हवा महल का निर्माण 

 tourist place near jaipur हवा महल का निर्माण 1799 में महाराजा सवाई प्रताप ,महाराजा सवाई जय सिंह के पोते कछवाह राजपूत वंश के शासक ने करवाया था एवं लाल चाँद उस्ताद नाम के एक वास्तुकार थे जिन्होने हवा महल को डिजायन किया था | लाल और गुलाबी पत्थऱ एवं रेत से निर्मित किया गया है हवा महल वास्तव में एक महल नहीं हे बल्कि एक गैलरी का अधिक से अधिक हिस्सा है  
हवा महल का उपयोग उस समय की शाही महिलाओ द्वारा किया जाता हे तथा आज उसका उपयोग एकbest  tourist place के रूप में किया जाता है | 

hawa mahal tourist place ka timing & travel tips- समय 

हवा महल के खुलने का समय सुबह 9 :30 का होता है |

 हवा महल के बंद होने का समय 4 :30 का होता है | 

शुक्रवार को संग्रालय बंद रहता हे इसलिए अगर आप अन्य दिनों में यात्रा की योजना बनाना हे तो सबसे अच्छा हे  ताकि आप संग्रालय से बाहर न हो | 

hawa mahal ki entry fee-प्रवेश शुल्क 

भारतीय पर्यटकों के लिए प्रवेश शुल्क 50 रूपये है |  

जबकि विदेशी पर्यटकों के लिए प्रवेश शुल्क 200 रूपये है  

अगर आप खरीदना चाहे तो वेध टिकट भी खरीद सकते हे जिसकी कीमत भारतीय पर्यटकों के लिए 300 हे एवं विदेशी पर्यटकों के लिए 1000 रूपये है  | 

hawa mahal kese pahuche & distance 

जयपुर जंक्सन से हवा महल -

जंक्सन से हवा महल की दुरी 5 -6 किलोमीटर हे और जाने में 15 मिनट लग सकती है  जंक्सन से आप को टेक्सी, ऑटो एवं बस मिल जाएगी | 

बस स्टैंड से हवा महल -

बस स्टैंड (सिंधी कैंप ) से हवा महल की दुरी 3. 2 किलोमीटर हे यहां से आप को बस ऑटो  टेक्सी  सब मिल जायेंगे | 

जयपुर एयरपोर्ट से हवा महल -

सांगानेर जयपुर एयरपोर्ट से हवा महल की दुरी 12 किलोमीटर हे हवा महल पहुंचने में आप को 27 मिनट लग सकती हे यहां  से  आप को ऑटो टेक्सी बुक करनी होगी  और आप हवा महल पहुंच सकते है |

tourist place near hawa mahal -हवा महल के आस -पास घूमने की जगह 

jal mahal -

jal-mahal-jaipur-tourist-place-in-rajasthan

tourist place near hawa mahal जल महल जयपुर की मानसागर झील के मध्य स्थित है यह महल झील के  बीचों बीच होने  के कारण आइ बॉल भी कहा  जाता है जल महल अत्यंत खूबसूरत महल है 
जयसिंग द्वारा निर्मित यह महल मध्यकालीन महलो की तरह मेहराबों ,बुर्जो ,छतरियों  एवं सीढ़ीदार जीनो से युक्त निर्मित भवन है

जल महल  घूमने की जानकारी के लिए क्लिक करे 

टिप्पणियां

Popular Posts

jal mahal jaipur places to visit,history,timing,entry fee,hotel,

city palace jaipur tourist place in rajasthan

Taragarh fort Ajmer history,guidance,height,distance get the detail

Amer fort jaipur

jantar mantar jaipur tourist place in rajasthan